कंसीव करना चाहती हैं तो जरूर करें फर्टिलिटी बढ़ाने वाले ये योगासन

शादी के बाद माँ बनना हर महिला का सपना होता है। कुछ महिलाएं बिना किसी परेशानी के बहुत जल्दी कंसीव कर लेती हैं, लेकिन कई  महिलाएं बहुत कोशिशों के बाद भी कंसीव नहीं कर पाती हैं। उन्हें लगने लगता है कि उनका माँ बनने का सपना शायद अधूरा ही रह जाएगा। महिलाओं में फर्टिलिटी कम होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे गलत खानपान, सुस्त जीवनशैली, हॉर्मोनल इंबैलेंस, अत्यधिक तनाव या कोई बीमारी. यदि आप बहुत कोशिशों के बाद भी प्रेगनेंट नहीं हो पा रही हैं तो निराश होने की ज़रुरत नहीं हैं। अपनी सेहत और खान-पान पर थोड़ा-सा ध्यान देकर आप आसानी से कंसीव कर सकती हैं। नियमित योग से भी तनाव कम करने और कंसीव करने में मदद मिलती हैआज के इस लेख में हम आपको बताएंगे के कि अगर आप कंसीव नहीं कर पा रही हैं तो आपको कौन से योगासन करने चाहिए -

पश्चिमोत्तानासन
इस आसन से आपकी पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियों, कूल्हों और हैमस्ट्रिंग में खिंचाव पैदा होता है। यह मानसिक तनाव को कम करता है और आपके प्रजनन तंत्र के कुछ हिस्सों जैसे अंडाशय और पेट के लिए अच्छा होता है।

जानुशीर्षासन
फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए जानुशीर्षासन एक बेहतरीन योगासन है. यह आसन आपके काफ और हैमस्ट्रिंग को फैलाता है और आपके शरीर की मांसपेशियों को भी आराम देता है।

बद्धकोणासन 
इस आसान को आमतौर पर तितली मुद्रा के रूप में जाना जाता है. यह आसान आपकी आंतरिक जांघों, कूल्हों, घुटनों और जननांगों की मांसपेशियों को खींचने में मदद करता है। नियमित रूप से इसका अभ्यास करने से प्रसव में भी मदद मिल सकती है।

सप्तबद्धकोणासन 
यह आसन कूल्हे के क्षेत्र को खोलने में मदद करता है। यह आपकी आंतरिक जांघ की मांसपेशियों को मजबूत करता है और सूजन और तनाव को कम करने में मदद करता है।

बालासन
बालासन को चाइल्ड पोज़ के रूप में भी जाना जाता है. यह आसन एक भ्रूण की स्थिति जैसा दिखता है इसलिए इसे बालासन कहा जाता है। यह आसान आपकी जांघों, घुटनों, पीठ और कूल्हों की मांसपेशियों को खींचने में मदद करता है।


source https://www.ekbaatbata.com/pregnancy/best-fertility-boosting-yoga-poses-for-woman-251113

Comments

Popular posts from this blog

जापानी वेट लॉस थेरेपी से पानी पीकर घटाएं अपना वजन, बस फॉलो करें ये आसान स्टेप्स

अपने बच्चे के आक्रमक व्यवहार से निपटने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

छोटी-छोटी बातों पर भी आपस में झगड़ते हैं बच्चे तो अपनाएँ यह टिप्स